Techno rader की success story|Success story of Indian bloggers

 

Success story of Indian bloggers – Techno rader story

यह कहानी एक ऐसे हिन्दी blogger की है जिसने अपनी मेहनत से blogging मे कामयाबी पाई। आज वह महीने के 2 से 3 लाख रुपये कमाता है।
 
 यह अपने वीडियो के जरिए लोगों की मदद भी करता है ताकि वह भी blogging से पैसे कमा पाए।  आइए जानते है इस blogger की success story।
 

आप सभी जानते है कि lockdown के कारण बहुत सारे लोगों की job चली गयी, बिजनेस बंद हो गए हैं।

जिससे लोग अलग अलग तरीके ढूंढ रहे हैं कमाई का, online एक ऐसा जरिया है जहां आप घर से ही काम कर अच्छे पैसे कमा सकते हैँ।

 इसी तरह का एक जरिया है Blogging, ब्लॉगिंग एक ऐसा जरिया है जहां आप अपने knowledge को शेयर कर सकते है।
 
लोगों की मदद कर सकते है और आप online earn कर सकते है।
 
 आज मैं आपको एक ऐसे लड़के के बारे मे बताने वाला हूं जिसने कम उम्र मे ही एक सफल blogger बन कर दिखाया।
 
आइए आगे जानते है इस blogger के बारे मे कैसे इसने सफलता पाया।
 

इस आर्टिकल का उदेश्य आपको प्रेरित करना है, ताकि आप अपने आप से निराश ना हो।

Techno rader early life

मैं जिस blogger के बारे मे बात कर रहा हूं उसका नाम है Sam है। 
 
इस लड़के ने भी बिल्कुल शुरू से शुरुआत किया। शुरुआत मे इसके पास ना तो laptop था और ना तो फोन।
 
 2015 मे sam के पापा ने एक laptop लाया उनके भैया के लिए।
 
उस समय Sam को ना तो फोन चलाना आता था और ना ही लैपटॉप।
 
 लेकिन घर मे जब  सैम को समय मिलता था तब वह laptop चलाना सीखता था।
 
धीरे धीरे वह सीखने लगा और laptop use करने लगा।
 

जब भी Sam को एक दो घंटे मिलता था वह लैपटॉप पर ऑनलाइन चीजे सर्च करते रहता था।

इसी दौरान उसने blogging के बारे मे जाना और उसने blogging करने की सोची।

 उस ने blogger.com पर एक ब्लॉग बनाया और उसने आर्टिकल भी पोस्ट किए, आर्टिकल उसने दूसरे ब्लॉग से copy पेस्ट कर दिया था।
 
शुरुआत मे उसका सिर्फ focus था monetization का।Sam ने ना तो अपने ब्लॉग के थीम को edit किया था , ना ही खुद article लिखे थे उनका कहना है कि उनको article भी लिखना नहीं आता था शुरुआत मे।
 

Techno rader Struggle

Sam ने अपने ब्लॉग को adsense के अप्रूवल के लिए भेजा, लेकिन वह रिजेक्ट हो गया।

उस समय उसने youtube पर ब्लॉगिंग की video देखा तब उसे पता चला कि उसे custom domain की जरूरत होगी।

 तब ….. उसने कुछ free custom domain भी लिया जैसे .tk, .xyz , .yz etc लेकिन उस समय google adsense free domain को भी approve नहीं करता था।
 
उस समय hostinger marketing के लिए free domain दे रहा था आपको होस्टिंग खरीदने की जरूरत नहीं थी।
 
तब sam ने एक custom domain रजिस्टर किया और अपने ब्लॉगर website से अटैच किया।
 
 इस बार Sam ने सारे article खुद लिखना start किया और जब 20 पोस्ट हो गए तब, sam ने adsense की अप्रूवल के लिए apply किया, लेकिन google ने उसे फ़िर रिजेक्ट कर दिया।
 
बहुत बार कोशिश करने के वाबजूद भी google ने सैम की वेबसाइट को adsense के लिए approve नहीं किया।
 
Sam (techno radar) ने अपनी वेबसाइट के सारे article जो की english मे थे, उसे hindi में translate कर दिया और update कर दिया।
 
 
उसके बाद एक बार फिर से adsense के अप्रूवल के लिए apply किया। इस बार google ने वेबसाइट को approve कर दिया।
 

अब सैम की ब्लॉग पर एड्स भी आने लगे थे, लेकिन सिर्फ ad आने से पैसे नहीं मिलते हैं। जब आपके वेबसाइट पर traffic आता है तब google आपको पैसे देता हैं।

वह कहते हैं कि “शुरुआत मे उनके website पर traffic नहीं आता था।

ब्लकि उनको traffic के बारे मे भी कुछ ज्ञान नहीं था।

तब उन्होंने इसके बारे मे पढ़ा youtube से वीडियो देखा और कुछ free methods को try किया traffic लाने के लिए, और कुछ methods खुद भी निकाले जिसे वह अपनी website पर traffic ले कर आते थे।
 
 वह शुरुआत में quora, medium इन सभी source को use कर traffic लाते थे।
 
traffic लाने मे उन्हें बहुत मेहनत करनी पड़ती थी।
 

Traffic तो आ रही थी लेकिन website rank नहीं हो रहा था।

जिसके कारण उन्हें ट्राफिक के लिए बहुत परिश्रम करना पड़ता था। website से पैसे आने लगे थे लेकिन वह rank नहीं हो रहा था।

Techno rader को success कैसे मिली?

जब 100$ पूरे होने वाले थे तब website का Domain expire हो गया, Domain expire होने के बाद उसे renew करना पड़ता हैं लेकिन sam ने अपने Domain को renew नहीं किया।

 उस समय तक  निराश हो गए और उन्हें लगने लगा कि seo बहुत बेकार होता है।
 
उन्होंने सभी कुछ छोड़ दिया और ब्लॉगिंग की वीडियो देखते रहते थे और सीखते रहते थे।
 

कुछ दिन बाद जब sam ने देखा  की जिस website को उन्होंने renew नहीं किया था उस Domain को किसी और ने renew कर लिया और सारे डाटा का back up ले कर उसे post कर दिया था और वह article sam के likhe थे।

 वह article rank हो रहा था और traffic भी अच्छा आ रहा था जिससे उसकी earning भी हो रही थी।
 
वह कहते है कि मैं इससे  समझ गया था कि जब आपका वेबसाइट पुराना होता है तब google को आप के वेबसाइट पर trust होने लगता है और वह आपके article को rank करने लगता है और आपके वेबसाइट पर traffic भेजता है ।
 

इस incident के बाद वह समझ गए थे seo को काम करने मे समय लगता है।

इस बार sam ने नया domain लिया और अपने वेबसाइट  lga दिया इस बार उन्हें आसानी से adsense से अप्रूवल मिल गया और इस बार उन्हें acche से पता था कि कैसे traffic लाने है उन्होंने quora, medium, Pinterest इन सभी को इस्तेमाल कर traffic लाया।

साथ ही इस बार सैम ने अपने website के article की seo भी अच्छे से की थी।
 

इस बार  blogger की जगह wordpress का इस्तेमाल किया और अच्छे से seo किया। wordpress blogger से ज्यादा अच्छा और एडवांस है आप इससे आसानी से कम समय मे अपने वेबसाइट को optimize कर सकते है।

 ऐसे ही sam ने किया और अपनी पहली कमाई 22000 रुपये कमाया।
 
धीरे धीरे earning बढ़ने लगी तब sam ने blogging के कोर्स खरीदने शुरू किए।
 
वह कहते है कि “मैंने india के सभी कोर्स dekhe है वह उतने अच्छे और effective नहीं है।
 
तब उन्होंने foreign के कोर्स खरीदे और अपने ज्ञान को अपने वेबसाइट मे लगाया।

अब  वह बहुत सारी वेबसाइट पर काम करना शुरू कर दिया था।

पहले वह मिक्स topic पर बात करते थे लेकिन कोर्स लेने के बाद वह particular topic पर माइक्रो topic पर काम करने लगे, जिसे उन्हें बहुत फायदा हुआ और वह अच्छी कमाई करने लगे।

किस keyword पर काम करना चाहिए?

शुरुआत मे longtail keyword पर काम करना चाहिए।

भले ही उस keyword पर volume कम हो यह आपके article को rank होने मे मदद करते हैं।

हमेशा कोशिश करें कि आप उन keyword पे काम करे जिन पर competition कम हो।
 
अधिकतर longtail keyword और question types keyword पर लोग काम नहीं करते है।
 
आप ऐसे keyword पे काम करे यह आपकी article को बहुत मदद करेगी rank होने मे।

 

वेबसाइट मे किस किस तरह के पोस्ट (article) लिखने चाहिए?

आपको एक अच्छा और effective वेबसाइट मे तीन तरह के पोस्ट देखने को मिलेंगे

1. Response post
2. Staple post
3. Pillar post

• Response post

य़ह पोस्ट कम से कम 1500 से 2000 words के होते है। Response पोस्ट का मतलब जो किसी भी प्रकार के question से शुरू होते हैं। आप इस पोस्ट मे topic से जुड़े सभी प्रकार के question को answer कर सकते हैं। ऐसे पोस्ट आपको 10 से 15 लिखने चाहिए।
 

• Staple post

इस पोस्ट की लंबाई 2000 से 2500 words की होती है। इस आर्टिकल मे आप top, best, better, top 10 etc जैसे keyword पर काम करते हैं। example:- top 10 laptop, best phone under 200000 ऐसे article आपके वेबसाइट मे कम से कम 10 होने चाहिए।
 

• Pillar post

यह कम से कम 3500 words के होते हैं। इस post मे आप बहुत detail मे चीजों को explain करते है। आप review दे सकते हैं, चीजों ko compare करते सकते हैं। इस तरह के article कम से कम 15 लिखने चाहिए।
 

अगर आप इस मेथड को follow कर आर्टिकल likhte हैं तब आपकी वेबसाइट और आपके article को rank होने मे मदद मिलेगी और आपकी वेबसाइट की अथॉरिटी भी बढ़ेगी।

शुरुआत मे किस तरह के keyword पर काम करें?

शुरुआत में हमेशा question keyword पर काम करे, और response पोस्ट likhe यह आपके वेबसाइट को grow करने मे मदद करेगी क्यूंकि question keyword feature snippet में rank हो जाती है वो भी कम समय मे। 

Techno radar blogging से कितना कमाते हैं?

Techno radar (sam) blogging से हर महीने 2 से 3 लाख रुपये कमाते हैं।
 
अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको 1 दिन की Techno rader की success story|Success story of Indian bloggers की हिन्दी कहानी पसंद आई होगी ।
 
और रोमांचिक कहानियां है निचे पढ़े।

1 thought on “Techno rader की success story|Success story of Indian bloggers”

Leave a Comment