राजा को उसकी खूबसूरत आंखे भारी पड़ी|story of kindness in hindi

नमस्कार दोस्तों आपका hindikahaniyauniverse.com में स्वागत है। इस blog पे आपको inspirational Hindi kahani, story of kindness in hindi इन्ही तरह के और भी  Hindi kahaniya पढ़ने को मिलेंगे ।

राजा को उसकी खूबसूरत आंखे भारी पड़ी की शूरुआत

बहुत समय पहले  एक उसीका नाम का राजा था। वह बहुत दयालू था और उसकी सरकार भी बहुत दयालू थी।

राजा का एक बेटा था जिसकी आँखे बहुत खुबसूरत थी मानो उसकी आँखे कुणाल की आँखे जैसी हो।( कुणाल एक भरतीय हिमालयन पक्षी होती है,जिसकी आँखे बहुत खुबसूरत होती है।)

राजा को कुणाल पक्षी बहुत पसंद थी इसलिए उसने अपने बेटे का नाम कुणाल रख दिया।

जब राजकुमार कुणाल बडा हुआ, वह बहुत सुन्दर था। उसका स्वभाव बहुत ही अच्छा था,साथ ही वह बहुत दयालू भी था।

राजा उसीका भगवान बुद्धा का भक्त था। एक दिन वह अपने बेटे को मंदिर ले गया,और वहां एक यासा नाम के संत से बुद्धिस्ट शिक्षा के बारे मे पूछते हैं। यासा युवा राजकुमार को देखता है और कहता है।

मनुष्य का जीवन स्थिर नही होता है। एक शरीर अपने जन्म,बुढापे,बिमारी और मृत्यु के चरण से गुजरता है।

एक इंसानी जीवन बहुत अशुद्धता से भरा हुआ है। कोई भी हमेशा के लिये जवान नही रह सकता है। यह सब माया है।

उसी प्रकार राजकुमार की आँखे भी बहुत खुबसूरत दिखती है। लेकिन असल मे यह आँखे गंदगी से भरी है जो की परेशानी का कारन हो सकता है।

राजकुमार चौक गया, वह सोचने लगा आज तक सभी ने उसे उसकी आंखो की बहुत तारिफ की है लेकिन यह संत ऐसा क्यू कह रहें हैं। यह बाते राज्कुमार के मस्तक मे घूम रही थी।

राजा के महल मे बहुत सारी महिलाए थी। एक जवान लडकी कुणाल की खुबसूरती से बहुत मोहित थी।

एक दिन जब कुणाल बागीचे मे अकेले बैठा हुआ था। तब वह लडकी ने कुणाल को अपने सौंदर्य से मोहित करने की कोशिश करने लगी।

लेकिन राजकुमार धर्मी था,उसे उस लडकी की यह बाते अच्छे नही लगी। वह अपने आपको उसके पकड़ से दूर करता है और उस लडकी के इरादे को पुरा नही करता।

बहुत समय बाद जब राजकुमार की उम्र शादी करने की हो गई,तब राजा उसीका ने राजकुमार के लिये पत्नी ढूंढ लिया।

जब उस लडकी को पता चला की राजकुमार की शादी हो रही है। उसे यह बर्दाशत नही हुआ की वह जिसे प्यार करती है उसकी शादी हो रही है,उसे बहुत जलन होने लगी और उसका प्यार नफरत मे बदल गया।

शादी के कुछ दिनो बाद राजा की तबीयत खराब हो गई। तब उस लडकी ने राजा का बहुत खयाल रखा जब तक वह स्वास्थ नही हो गये।

कुछ दिनो बाद राजा स्वास्थ हो गये,राजा उस लडकी के सेवा से बहुत खुश था। उसने उस लडकी से कहा तुम्हारी सेवा से मै बहुत खुश हूं। तुम्हे क्या चाहिये मै वो तुम्हे दूँगा। राजा ने वादा कर दिया।

लड़की ने चली चाल|story of kindness in hindi

लडकी ने कहा मै 7 दिनो के लिये आपके स्थान पर आ कर इस राज्य पर शासन करना चाहती हूं।

राजा ने सोचा और क्युंकि उसने वादा कर दिया था वह अपने वादे से नही मुकर सकता था। राजा मान गया।

लडकी राजा की गदी पर बैठती है। वह कुणाल को एक पत्र लिखती है जिसमे उसने अपने प्रेम और नफरत दोनो का जिक्र करती है।

सोने के अंडे देने वाली मुर्गी Ne liya badla  

वरुण बरनवाल की IAS बनने की कहानी | success story of ias in hindi 2021

और कहती है उसकी नफरत तब शान्त होगी जब राजकुमार अपनी आँखे उसे दे दे।

अचानक राजकुमार को उस शंत की बाते याद आती है,राजकुमार को उस शंत की बाते अब समझ आती है। लेकिन अब बहुत देर हो चुकी होती है।

क्युंकि यह राजा का याज्ञा था कुणाल इसका उलाँघान नही कर सकता था।

उसने अपनी एक आंख निकाल दी और उस लडकी को दे दिया,क्युंकि दोनो आंख मांग रही थी। इसलिए कुणाल ने अपनी दोनो आँखे निकाल उसे दे दी।

दोनो आँखे निकाल देने के बाद राजकुमार के सामने सबकुछ अंधकार से भर गया,लेकिन अचानक उसकी दिमाग प्रकाश से भर गया। वह मन की शान्ती को महसूस कर पा रहा था।

जब यह खबर राजकुमारी तक पहुचि,राजकुमारी भगती हुई राजकुमार के पास जाती है और रोने लगती है। लेकिन राजकुमार बहुत शान्त था,उसने अपनी पत्नी को शान्त किया।

और कहा इंसानी जीवन स्थाई नही है इसलिए चिंता और घृणा नही करो। क्युंकि घृणा और चिंता इंसान का सबसे बडा दुश्मन है।

तभी एक रक्षक अंदर आता है और राजकुमार से कहता है। राजकुमार आप यहां रहे तो आपकी और राजकुमारी की जान को खतरा है।

आप यहां से कही और चले जाये। राजकुमार कहता है हां मै यह जानता हूं। राजकुमार अपनी पत्नी के साथ राज्य छोड़ देता है।

राजकुमार बीणा बजाना सीख लेता है और दुसरे शहर मे गली गली वीणा बजाकर गाना गाता था। उसका गाना सुन कर लोग कुछ पैसे दे देते थे। जिसे वह अपना और अपनी पत्नी का पेट भरता था।

कुछ सालो बाद राजकुमार गाना गाते अपने राज्य पहूंच गया। वह अपने राज्य के गलियों मे गाना गा रहा था। तभी राजा उसीका ने राजकुमार को गाते सुन लिया।

उसे लगा की यह आवाज राजकुमार की है उसने मंत्री को बोला की उन गायको को महल मे बुलाया जाये।

मंत्री राजकुमार को महल ले जाते है। राजा उसीका पहचान लेते है की वह उनका बेटा और बहू है जो सालो से लापता थे।

राजा कुणाल की हालत देख बहुत दुखी हो गये। वह राजकुमार से पूछते हैं किसने किया यह तुम्हारे साथ।

राजकुमार कुणाल ने उस लडकी के बारे मे राजा को नही बतया। लेकिन मंत्री और रक्षक खुद को और रोक नही पाये और उन्होने सारी सच्चाई राजा को बता दी।

राजा बहुत गुस्से मे था उसने उस लडकी को सजा देना चाहा लेकिन कुणाल ने राजा उसीका से कहा की उसे माफ कर दें। राजा कुणाल की उदारता देख उस लडकी को जाने देता है।

बाद मे उस लडकी को अपनी गलती का एहसास होता है। वह अपने आप से बहुत शर्मिंदा थी जिसके कारन वह आत्महत्या कर लेती है।

उस लड़की के झूठे प्यार ने नफरत पैदा कर दी जिसके कारन बहुत समस्याएँ हुई। उसकी एक गलती के कारन उसने अपनी जान दे दी और लोगो को तकलीफ दी।

असल जिंदगी मे भी ऐसा होता है। सच्चा प्यार किसी के चेहरे से नही, मन से किया जाता है।

प्यार एक ऐहसास होता है, प्यार दिल और दिमाग से होता है। प्यार लोगो को बना देता है लोगो को खुशी देता है। प्यार नफरत नही फैलाताऔर ना ही किसी को बर्बाद करता है।

प्यार और जलन कभी साथ नही रह सकते।प्यार जो लोगो को बर्बाद कर देता है, दूसरो को तकलीफ देता है वह प्यार नही होता है।

अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको राजा को उसकी खूबसूरत आंखे भारी पड़ी|story of kindness in hindi की हिन्दी कहानी पसंद आई होगी ।

और रोमांचिक कहानियां है निचे पढ़े।

Leave a Comment