Mcdonalds कैसे बना दुनिया का सबसे बड़ा food चैन buisness|mcdonald success story in hindi

 

Mcdonalds कैसे बना दुनिया का सबसे बड़ा food चैन buisness|mcdonald success story in hiनमस्कार दोस्तों आपका hindikahaniyauniverse.com में स्वागत है। इस blog पे आपको Mcdonalds कैसे बना दुनिया का सबसे बड़ा food चैन buisness|mcdonald success story in hindi इन्ही तरह के और भी  Hindi kahaniya पढ़ने को मिलेंगे ।

Macdonald’s की शुरुआत कैसे हुई?

McDonalds की शुरुआत 15 मई 1940 मे कैलिफ़ोर्निया में हुई थी। 

जिसके founder थे दो भाई richard और maurice mcdonald । 1940 का दशक वह दौर था जब विश्व युद्ध 2 खत्म हो चुका था।अमेरिका मे development फिर से शुरु था। 

उस समय अमेरिका मे खाने पीने के लिये ज्यादा रेस्तराँ नही थे। लेकिन उस समय hotdog की stalls बहुत होती थी। 

 hotdog बेचने का बिज़नेस उस【Hindi kahaniya】 समय फायदेमंद हुआ करता था। तभी दोनो भाईयों ने hotdog बेचने का निर्णय लिया और एक रेस ट्रैक के बाहर अपनी stall लगाई।

उस समय कार रेस की एक प्रतियोगिता हो रही थी जिसके कारन दोनो भाईयों ने हॉटड़ौग से काफी अच्छा बिज़नेस किया।

 लेकिन जब प्रतियोगिता खत्म हुई इनके हॉटड़ौग की बिक्री कम होने लगी। जिसके कारण उनको अपना stall बंद करना पड़ा। 

Mcdonlads भाइयो ने Risk लिया|mcdonald success story in hindi

बैंक औफ़ अमेरिका से 5000 हज़ार डॉलर की लोन लेकर उन्होने इस बार sen bernadino मे दोनो भाईयों ने एक छोटा सा रेस्तराँ खोलने का रिस्क लिया। 

यह रिस्क उनके लिये बहुत फायदेमंद साबित हुआ और उनका रेस्तराँ चल पड़ा जिसका नाम उन्होने mcdonalds रखा था। 

हॉटड़ौग के साथ साथ उन्होने hamburger भी बेचना शुरु किया। धीरे धीरे उनके बर्गर hotdog की तुलना मे ज्यादा बिकने लगी। 

जब richard और maurice ने यह देखा तब उन्होने हॉटड़ौग को छोड़ अपने बर्गर और fries पर ज्यादा ध्यान दिया। ऐसा कर के उन्होने अपने रेस्तराँ को एक ब्राण्ड बना दिया। 

सभी लोग mcdonalds का नाम जानने लगे थे। उनके छोटे से रेस्तराँ के बाहर लोग लम्बी लम्बी लाईन लगा कर खड़े होते थे बर्गर खाने के लिये।

रे क्रोक (ray kroc)|Future mcdonald owner

रे क्रोक अमेरिका के रेस्तराँ को मिल्क शेक बनाने वाली मशीन सप्लाई करते थे। एक दिन जब वह अपनी मशीनो का हिसाब देख रहे थे। 

उन्हें दिखा की एक mcdonalds नाम का रेस्तराँ है जिसने सबसे ज्यादा मशीन खरीदा है। रे इस बात से बहुत प्रभावित हुए। 

Related : इन्हे भी पढे 

 
 
 

वह McDonalds के मालिक से मिलने कैलिफ़ोर्निया पहूंच गये। जब वह वहां पहुँचे उन्होने देखा की एक छोटा सा रेस्तराँ है जिसके आगे बहुत भीड है।

रे वहां भीड मे खड़े एक आदमी से पूछते है। ऐसा क्या है इस बर्गर मे वह आदमी उन्हे बताता है। McDonalds के बर्गर सिर्फ 15 cents के हैं और बहुत ही स्वादिष्ट है।

 यहां की सर्विस भी बहुत अच्छी है आपको  【 mcdonald success story in hindi 】ज्यादा देर खड़ा नही होना पड़ता आपके ऑडर देने के 3 मीनट मे बर्गर आपके हाथ मे होगा।

रे यह सब देखकर की लोग मैक्डोनाल्डस को इतना पसंद कर रहे हैं वह उसे जुड़ना चाहते थे। 

रे रिचर्ड और murice से बात करते हैं और कहते है की तुम्हे मैक्डोनाल्डस कीऔर भी ब्रांचे खोलनी चाहिये लोगो को इसकी फ्रेंचाइजी देनी चाहिये।

रे mcdonalds की एक फ्रेंचाइजी लेते है और अपना रेस्तराँ खोलते है। कुछ सी समय मे रे का रेस्तराँ भी चलने लगता है और वह खुब पैसे कमाने लगते हैं।

रे समझ चुके थे की लोग मैक्डोनाल्डस को बहुत पसंद करते हैं। वह McDonalds को पुरे अमेरिका और अमेरिका के बाहर फैलाना चाहते थे। 

इस बारे मे जब उन्होने मैक्डोनाल्डस के असली मालिक जिन्होंने mcdonalds को बनाया richard और murice से बात की उन्होने कहा हम जितना कमा रहे है उतना हमारे लिये बहुत है। 

इसे ज्यादा हमे नही चाहिये। अगर तुम अपने मन मर्ज़ी से काम करना चाहते हो। तुम इस कंपनी को खरीद लो और जो करना चाहते हो करो।

रे क्रॉक ने 6 साल बाद McDonalds को 2.6 million dollars मे खरीद लिया।

ray kroc अब mcdonalds के नये मालिक थे। उन्होने ने मैक्डोनाल्डस के बिज़नेस मॉडल मे कुछ बदलाव किये। 

जैसे mcdonalds मे काम करने वाले सभी कर्मचारियो की ड्रेस पुरे विश्व मे एक होगी। मैक्डोनाल्डस का outlet सेम होगा। और भी कई बदलाव किये।

मैक्डोनाल्डस कितने देशो मे है?

रे ने एक बात का विशेष ध्यान रखा की mcdonalds का बर्गर सबसे सस्ता,सबसे स्वादिष्ट हो और सर्विस सबसे फास्ट होगी। 

उसी का नतिजा है की आज McDonald’s 120 से भी ज्यादा देशो मे 37800 से भी ज्यादा outlets के साथ मौजूद है।

एक सैकेण्ड मे मैक्डोनाल्डस कितने बर्गर बेचता है?

mcdonalds हर रोज 6 करोड़ 90 लाख से भी ज्यादा बर्गर बेचती है। पूरे विश्व मे मैक्डोनाल्डस तकरीबन 80 से भी ज्यादा बर्गर हर सैकेण्ड बेचता है।

इसके साथ साथ mcdonalds ने और भी बहुत कृतिमानो को हासिल किया। 

जैसे विश्व की सबसे बड़ी फास्ट फूड चैन, सबसे ज्यादा कर्मचारियो को काम  【Real Life successs tories in hindi】  पर रखने की, सबसे ज्यादा फायदा कमाने वाली कंपनी, सबसे ज्यादा अपने ब्रांच खोलने वाली कंपनी और भी कई कृतिमान हासिल किये।

भारत मे McDonalds कब आया ?

McDonalds भारत (india) मे 1996 मे आया था। दिल्ली के वशंत विहार मे McDonalds की पहली outlet खुली थी।

मैक्डोनाल्डस आज जिस मुकाम पर है वह सिर्फ ray kroc के vision की वजह से। richard और murice के पास वह vision नही था। 

McDonald’s पर एक फिल्म भी बनी है। जिसका नाम है The founder अगर आपने यह फिल्म नही देखी है तो जरूर देखे।

अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको Mcdonalds कैसे बना दुनिया का सबसे बड़ा food चैन buisness|mcdonald success story in hindi की हिन्दी कहानी पसंद आई होगी 

और रोमांचिक कहानियां है निचे पढ़े।

Leave a Comment

भुज the pride of india के असली हीरो विजय कार्णिक |Biography of vijay karnik in hindi 22 Blogs fail हुए पर अब कमाते है लाखो में |Success story of Indian blogger Olympic मेडल दिलाने वाली Saikhom mirabai chanu biography in hindi वरुण बरनवाल की IAS बनने की कहानी | success story of ias in hindi 2021
भुज the pride of india के असली हीरो विजय कार्णिक |Biography of vijay karnik in hindi 22 Blogs fail हुए पर अब कमाते है लाखो में |Success story of Indian blogger Olympic मेडल दिलाने वाली Saikhom mirabai chanu biography in hindi वरुण बरनवाल की IAS बनने की कहानी | success story of ias in hindi 2021