डिविडेन्ड स्टॉक्स और बॉन्ड मे क्या अंतर होता है ?| Dividend stocks vs bonds in hindi

इस Article मे आप ये जानेंगे की डिविडेन्ड स्टॉक और बॉन्ड मे क्या अंतर है और किस इंसान को कौन सा इनवेस्टमेंट प्लान चुनना चाहिए। इस article मे हम जिन टोपिक्स पर बात करेंगे वो कुछ इस प्रकार है Dividend stocks vs bonds in hindi (डिविडेन्ड स्टॉक्स और बॉन्ड मे क्या अंतर होता है?), सरकारी बॉन्ड क्या है?, सबसे ज्यादा डिविडेंड देने वाले शेयर 2022, डिविडेंड पॉलिसी क्या है?, डिविडेंड कैसे मिलता है?, कंपनी लाभांश (डिविडेंड) कब जारी करती है?

Table of Contents

डिविडेन्ड स्टॉक्स और बॉन्ड मे क्या अंतर होता है?(Dividend stocks vs bonds in hindi)

Bond एक Fixed income security होता है जिसमे बहुत ही Low Risk होता है और Regular interval पर investors को interest भी provide कराया जाता है और Maturity period पूरा हो जाने के बाद principle Amount लौटा दिया जाता है।

सरकारी बॉन्ड (Government Bond) इनवेस्टमेंट contract है जो की central और state Government के द्वारा जारी किया जाता है, एसे investment contract को Government तभी जारी करती जब Government को बहुत ज्यादा Cash की जरूरत होती है ।

Government Bond एक तरह का Contract ही होता है जिसमे सरकार उस बॉन्ड धारक को ये वादा करती है की वो उसे Bond के Face value पर Interest देगी और maturity Date पर जो भी Amount उस बॉन्ड धारक ने Bond को लेते समय pay किया है उसे वापस कर देगी ।

Bond खास कर के Government Bond बहुत safe होता है क्यू की इसे Government के द्वारा जारी किया जाता है पर इसमे आपको High Return देखने को नहीं मिलेगा । ज्यादातर Bonds Long Term Maturity date के साथ ही आते है ।

Related : इन्हें भी पढ़े

डिविडेन्ड स्टॉक क्या होता है ? (What is Dividend Stock?)

जब companies अपने profit के एक part को अपने shareholders मे distribute करती है तो उसे डिविडेन्ड कहते है इस डिविडेन्ड को पाने क लिए आपके पास एक खास तरह का स्टॉक होना चाहिए जीसे डिविडेन्ड स्टॉक्स कहते है ।

Stocks और Dividend stocks बहुत ही ऊपर नीचे नीचे होने वाले investment के तरीके है क्यू की ये direct Market से Deal करते है इस वजह से इसमे आपके इनवेस्टमेंट को ज्यादा risk होता है पर इसी वजह से आपको ज्यादा मुनाफा मिलने की भी संभावना बढ़ जाती है। stocks मे Maturity का कोइ झंझट नहीं ये बिल्कुल free होता है आप इसे कभी भी खरीद कर कभी भी बेच सकते है ।

डिविडेंड कैसे मिलता है ? (How do we Get Dividend?)

  • डिविडेन्ड हमेशा per share के बैसिस पर मिलता है ।
  • डिविडेन्ड हमेशा face value of share पर calculate होता है न की market value of share पर ।

Example : मान लो टाटा ने 100% डिविडेन्ड Announce किया और टाटा के shares की value Rs. 10 है और आपके पास टाटा के 100 shares है, तो आपको कितना Reward मिलेगा ?

Ans. – shares की संख्या = 100
Face Value of 1 Share = 10
Dividend की percentage = 100%

1 Share की 100% Face value = 10

Shares की संख्या * डिविडेन्ड per share = डिविडेन्ड का इनाम

100*10= Rs. 1000

Related : इन्हें भी पढ़े

डिविडेंड़स स्टॉक्स किन लोगों को लेनी चाहिए ? (Who should buy Dividend stocks?)

  • ये स्टॉक्स उन्ही लोगों को लेनी चाहिए जो चाहते है की उन्हे लगातार एक मोटी रकम मिलती रहे और उनके स्टॉक्स भी समय के साथ वैल्यू मे बढ़ते रहे ।
  • ये उन्ही लोगों को लेना चाहिए जो High Return के लिए अपने पैसे के साथ थोडा Risk लेने को तैयार है।

बॉन्डस किन लोगों को लेने चाहिए ? (Who should buy Bonds?)

  • जिन लोगों का main goal अपने पैसे को लंबे समय तक safe रखना है और थोडा मुनाफा कमाना है उनके लिए बॉन्ड सबसे अच्छा इनवेस्टमेंट है ।
  • इसमे आपको Return भले ही कम मिले पर आपका principle Amount हमेशा safe रहेगा ।

Related : इन्हें भी पढ़े

सबसे ज्यादा डिविडेंड देने वाले शेयर 2022 (Highest Dividend Paying Stocks in 2022)

Company name (कंपनी का नाम)Present share price (वर्तमान शेयर के दाम)Sector (सेक्टर)Market cap (मार्केट कैप)
HPCL (एच पी सी एल )Rs. 272.70ऑइल & गैसलार्ज कैप (Rs. 38,605)
 ITC (आई टी सी)Rs. 209.35एफ एम सी जी लार्ज कैप (Rs. 256,929)
Petronet LNG LTD (पेट्रोनेट एल एन जी लिमिटेड)Rs. 190.70ऑइल & गैसलार्ज कैप (Rs. 28,642)
IOCL (आयी ओ सी एल)Rs. 110.15ऑइल & गैस लार्ज कैप (Rs. 103555.76)
Coal India Limited (कोल इंडिया लिमिटेड)Rs. 151.00माइनिंग लार्ज कैप (Rs. 92,441)
Bharat Petroleum Corporation Ltd (भारत पट्रोलीअम कॉर्पोरेसन लिमिटेड)Rs. 333.45ऑइल & गैसलार्ज कैप (Rs. 72,246)
National Aluminium Corporation Limited (नैशनल एल्युमिनियम कॉर्पोरेसन लिमिटेड)Rs. 112.15माइनिंग लार्ज कैप (Rs. 20,579)
NHPC (एन एच पी सी)Rs. 27.25 पावर लार्ज कैप (Rs. 27,372)
NMDC (एन एम डी सी)Rs. 134.85 माइनिंग लार्ज कैप (Rs. 39,402)
सबसे ज्यादा डिविडेंड देने वाले शेयर 2022 (Highest Dividend Paying Stocks in 2022)

डिविडेन्ड स्टॉक्स कैसे खरीदे ? (How to buy Dividend stocks?)

Dividend Stocks आप स्टॉक एक्सचेंज से खरीद सकते है। ये आप ट्रैडिंग अकाउंट से कर सकते है ।

अगर आपके पास Bank Account, Trading account और Demat Account नहीं है तो बना ले।

नीचे दिए link से आप ये तीनों account open कर सकते है वो भी घर बैठे बैठे ।

(a) Bank account – Download करे Yono sbi और उससे bank account खोले वो भी online

(b) Trading Account – Upstox, zerodha या फिर Groww आप से Open कर ले

(c) Demat Account – Upstox, zerodha या फिर Groww आप से Open कर ले

Related : इन्हें भी पढ़े

Bonds कैसे खरीदे ? (How do you buy Bonds?)

आप Bonds NSE के app से खरीद सकते है, इस app का नाम ‘NSE goBID’ है । यहाँ पर जा कर आप registration करने के बाद Bonds खरीद सकते है। यहाँ पर आपको दो तरह के bonds मे invest करने को मिलेगा :

  • Long Term Bond जीसे आप 5 से 40 सालों तक Hold कर सकते है ।
  • Treasury Bill जीसे आप 1 साल से कम समय के लिए hold कर सकते है ।

डिविडेंड़स और बॉन्डस के बारे मे अतिरक्त जानकारी (Additional Information about Dividends and Bonds)

कंपनी लाभांश (डिविडेंड) कब जारी करती है? (When does the company issue dividend?)

Dividend 3 तरह की होती है :

Interim

एक साल से कम समय मे हुए Profit को Distribute करने को Interim Dividend कहा जाता है । यह 3 Month से 6 month का हो सकता है ।

Final

ये dividend पूरे साल के profit को calculate करने के बाद साल के अंत मे दिया जाता है ।

Special

ये dividend अचानक किसी कारण से comapany को profit होने के बाद मिलता है ।

Example: मान लीजिए company ‘A’ ने 500 crore मे एक जमीन खरीदी और 700 crore मे उसे बेच दिया तो वो जो 200 crore का फाइदा हुआ वो उनके main business से नहीं आया और उसमे से shareholders को special dividend दिया जाएगा ।

Related : इन्हें भी पढ़े

डिविडेंड पॉलिसी क्या है? (What is Dividend Policy?)

Dividend Policy एक Guideline होता है जो companies के द्वारा तैयार किया जाता है इस Policy के अंदर ये बताया जाता है की company dividend का Distribution किस प्रकार से करेगी, payout ratio कैसा होगा, Dividend कितनी बार मिलेगा, ये company के Board of Directors के निगरानी मे बनाया जाता है ।

Dividend Policy 3 तरह के होते है :

Stable

इस Dividend Policy मे एक निश्चित dividend decided होता है अगर company loss मे भी जाती है तो Shareholders को उनके हिस्से का dividend जरूर मिलेगा ।

Regular Dividend Policy

इस Regular dividend policy मे, Company Dividend का profit से एक निश्चित percentage set कर देती है। जब Profit
High होगा तो Dividend अपने आप ही ज्यादा मिलेगा पर जब profit कम होगा तो dividend भी कम मिलेगा ।

Irregular Dividend Policy

Irregular Dividend Policy के अनुसार, Dividend का payment करना है या नहीं वो company के ऊपर होता है। अगर company चाहती है तो shareholders को dividends देगी, नहीं तो नहीं देगी।

No dividend Policy

इस dividend Policy मे comapany कोइ भी dividend देने का वादा नहीं करती है वो सारा का सारा Profit company के future Growth मे लगाना चाहती है।

बांड के प्रकार (Types of Bonds)

भारत मे मौजूद Bonds के प्रकार:

Zero-Coupon Bond

ज़ीरो कूपोन बॉन्ड डिस्काउंट price पर खरीदा जाता है ये Maturity Date से पहले कुछ pay नहीं करता, Interest समय के साथ जमा और compound होते रहता है फिर Maturity के समय Priniciple Amount के साथ सारा Interest और Compound amount एक साथ मिलता है ।

Government Securities Bond

ये एसा बॉन्ड है जो central या state government इशू करती है जब उन्हे अचानक बहुत ज्यादा अमाउन्ट के Funds की जरूरत होती है ।

Generally government bonds long term के होते है यानि 5 से 40 साल तक के।

corporate bonds

जब भी एक Private company आम जनता से पैसा उठाती है एक fixed समय के लिए और बदले मे एक निश्चित interest rate देने का वादा करती है, उस बॉन्ड को corporate bond कहेंगे ।

ये पैसा company अपने Growth के इस्तेमाल मे लाती है ।

Covertible Bond

ये एक एसे तरह का बॉन्ड होता है जीसे बॉन्ड की तरह भी इस्तेमाल मे लाया जाता है और जरूरत पढ़ने पर stocks के रूप मे भी convert किया जा सकता है।

ये एक एसा बॉन्ड है जो इन्वेस्टर को डेट और एक्विटी दोनों के advantage प्रदान करवाता है ।

Inflation – Linked Bonds

ये एक एसा बॉन्ड होता है जो inflation से होने वाले लॉस को खत्म कर देते है। ये Government ही इशू करती है ।

sovereign Gold Bond

ये एक एसा बॉन्ड होता है जो सेंट्रल गवर्नमेंट के द्वारा इसु किया जाता है। ये बॉन्ड उन लोगो के लिए होता है जो गोल्ड मे इन्वेस्ट तो करना चाहते है पर उसे physical form मे अपने घर मे स्टोर नहीं करना चाहते। ये बॉन्ड Tax फ्री होता है ।

RBI bond

ये बॉन्ड RBI के द्वारा 2020 मे इशू किया गया है इसे Floating Rate saving bonds भी कहते है।

इस बॉन्ड की maturity date 7 साल है इसके interest rate पूरे 7 साल मे ऊपर नीचे fluctuate होते रहते है ।

हर 6 महीने मे इस बॉन्ड के Interest rate बदलते रहते है।

इस बॉन्ड से हुई income का tax लगेगा ।

डिविडेन्ड स्टॉक्स का क्या Advantage है ? (Advantages of Dividend Stocks)

(a) एक Passive income का source है

(b) जो डिविडेंड़स के रूप मे amount मिलेगा उसको reinvest कर सकते है

(c) मार्केट लॉस मे चलने पर भी आपके dividend earinings पर कोइ आंच नहीं आएगी ।

(d) dividend डबल income provide करवाती है, पहले तो आपको dividend मिलते रहता है और दूसरी तरफ आपकी Stock की market value साल दर साल बढ़ती रहती है ।

Government Bonds का क्या Advantage है ? (Advantages of Government Bonds)

(a) Government Bonds रिस्क फ्री होता है ।

(b) Bonds के रिटर्न्स या इन्टरिस्ट एक निश्चित रूप से मिलते रहेंगे और आखिर मे Maturity के समय प्रिन्सपल अमाउन्ट भी लौट जाता है ।

(c) आप shares की तरह ही इन Bonds को भी तुरंत खरीद या बेच सकते है ।

(d) RBI के Guidelines के मुताबिक हर 6 महीने मे Bond धारक को अपना interest से हुआ income मिलना चाहिए । इससे investor के पास एक Regular cash flow आते रहता है ।

FAQ

  1. कौन सी कंपनी लाभांश देती है?

    जिन Company को अपने shareholderको Reward करना होता है और अपने company पर भरोसा बनाए रखना होता है वो companies डिविडेन्ड यानि लाभांश इशू करती है ।

  2. शेयर होल्डिंग क्या होता है?

    एक investor किसी कंपनी का कितना shares होल्ड करता है यानि उस कंपनी के कितने पर उसका हक्क है उसी को दिखाने के लिए शेयर होल्डिंग शब्द का इस्तेमाल होता है ।

  3. डिविडेंड को हिंदी में क्या बोलते हैं?

    डिविडेन्ड को हिन्दी मे लाभांश कहते है ।

  4. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड क्या है?

    एक एसा बॉन्ड होता है जो सेंट्रल गवर्नमेंट के द्वारा इसु किया जाता है। ये बॉन्ड उन लोगो के लिए होता है जो गोल्ड मे इन्वेस्ट तो करना चाहते है पर उसे physical form मे अपने घर मे स्टोर नहीं करना चाहते

अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको डिविडेन्ड स्टॉक्स और बॉन्ड मे क्या अंतर होता है ?| Dividend stocks vs bonds in hindi की Article पसंद आई होगी ।

और भी इन्टरिस्टिंग कंटेन्ट निचे पढ़े।

3 thoughts on “डिविडेन्ड स्टॉक्स और बॉन्ड मे क्या अंतर होता है ?| Dividend stocks vs bonds in hindi”

Leave a Comment