2 दोस्तों ने बनाया ₹40000 से ₹22 खरब | hewlett packard success story in hindi

2 दोस्तों ने बनाया ₹40000 से ₹22 खरब | hewlett packard success story in hindi

नमस्कार दोस्तों आपका hindikahaniyauniverse.com में स्वागत है। इस blog पे आपको inspirational Hindi kahani,hewlett packard success story in hindi इन्ही तरह के और भी  Hindi kahaniya पढ़ने को मिलेंगे ।

कहानी की शुरुआत ।

सन् 1938 में दो दोस्तों ने मिलकर एक किराये के garage ली ताकि वह अपने business पर काम कर सके।
उन दोस्तो के पास सिर्फ $538 थे अपने बिज़नेस को start करने के लिए।
इन दो दोस्तों का नाम था Bill hewlett और David packard, यही दोनो दोस्त HP के founders है।

HP company के नाम के पीछे की क्या कहानी है?

इन दोनों दोस्तों ने यह decide किया की वह सिक्का उछालेंगे और जो जीतेगा उसका surname पहले रखा जाएगा। 【Hindi kahaniya】
और Bill Hewlett जीत गए फिर company का नाम Hewlett-Packard रखा गया। जिसे हमलोग short form में HP भी बोलते है।
उन्होंने बहुत सारे अलग अलग products पर काम किया पर उन्हें कुछ ज्यादा सफलता प्राप्त नही हुई।उनका पहला product जो सबसे ज़्यादा hit हुआ वो था एक audio oscillator 
उनका audio oscillator बाकी companies से सस्ता और quality wise अच्छा भी था।

Hp की computer industry में entry| hewlett packard success story in hindi   

 सन् 1966 में Hp ने दो computers market में उतारे पहले का नाम था Hp 2100 और दूसरे का नाम था Hp 1000
यह computers काफी famous हुए और लोगो ने इसे अगले 20 साल तक खूब प्यार दिया।
सन् 1968 में HP ने दुनिया का पहला commercial programmable desktop computer market में उतारा।
जिसकी कीमत $4000-$5000 तक आ जाती थी। 【Moral stories in hindi】

Hp ने calculator manufacturing में भी अपना कमाल दिखाया

सन् 1972 में Hp ने अपनी काबिलियत का नमूना दिखाते हुए दुनिया का पहला scientific calculator market में उतार डाला।
और इन्ही तरह के और भी calculators इन्होंने भविष्य में बनाये।

printers का उत्पाद भी करती थी Hp

सन् 1984 में Hp ने personal computers के लिए inject और laser printers भी बनना चालू कर दिया। 【real life inspirational stories of success in hindi】

Hp ने किन-किन companies को kharida

सन् 1989 और 1995 में Hp ने 2 companies को खरीदा पहला था Apollo computers और दूसरा था convox computers 
Hp ने इन companies को इस लिए खरीदा क्योंकि वह computers के अलग अलग components को बनना चाहते थे जिसमे ये दो companies इनकी मदद करेगी।

Hp के Golden years|Hewlett-packard logo

Hp ने 2008-2013 तक सबसे ज़्यादा computers बेचे और बिक्री के मामले में वो Top company रही।
यह कहानी थी एक ऐसे company की जो rent के Garage से शुरू हुई और फिर one of the best selling computer manufacturing company बनी।

अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको 2 दोस्तों ने बनाया ₹40000 से ₹22 खरब | hewlett packard success story in hindi की हिन्दी कहानी पसंद आई होगी 

और रोमांचिक कहानियां है निचे पढ़े।

Leave a Comment