स्लिपिंग ब्यूटी short story in Hindi | Hindi Kahaniya

स्लिपिंग ब्यूटी short story in hindi|Hindi kahaniya

नमस्कार दोस्तों आपका hindikahaniyauniverse.com में स्वागत है। इस blog पे आपको inspirational Hindi kahani, Horror Hindi kahaniya …इन्ही तरह के और भी  Hindi kahaniya पढ़ने को मिलेंगे ।

कहानी की सुरुवात

बहुत समय पहले किसी अंजान देश मे एक राजकुमार रहता था। राजकुमार बहुत बहादुर और दिल का अच्छा था। वह अपने राज्य के लोगो की परेशानी और समस्या दूर कर देता था। लोग भी उसे बहुत पसंद करते थे। 

उसकी वीरता और साहस की कहनिया चारो ओर प्रसिध्द थी। इसे उसके पिता भी बहुत खुश और गर्व महशूस करते थे। 
लेकिन राजकुमार के माता पिता एक बात को लेकर बहुत परेशान रहते थे। राजकुमार की शादी की उम्र हो चुकी थी। परंतु राजकुमार को कोई भी राज कन्या पसंद ही नही आती थी।

इस बात से चिंतित राजा उस देश के सबसे महान योगी के पास जाते है।

राजा:-गुरुजी मै राजकुमार के विवाह को लेकर चिंतित हूं। उसे कोई राज कन्या पसंद ही नही आती। अब आप ही बताईये उसे उसकी जीवन साथी कब और कैसे मिलेगी? 
योगी:- उसके जीवन मे सृष्टि की सबसे सुन्दर राजकुमारी आने वाली है। लेकिन उसे पाना इतना आसान नही है। मेरी बात ध्यान से सुनो। 

कई वर्षो पहले एक दयालू राजा अपनी रानी के साथ राज करता था। वह राजा बहुत दयालू था उसके राज्य मे सभी खुशल मंगल था राजा अपनी प्रजा का बहुत ध्यान रखता था। इसी बिच रानी ने एक खुबसूरत नन्ही बच्ची को जन्म दिया। राजा की खुशी का ठिकाना ही नही था। सभी लोग बहुत खुश थे राजा ने सभी के लिये दावत का ऐलान किया। राज्य के सभी लोग बच्ची को आशीर्वाद देने के लिये आमंत्रित थे। जिसमे परियां भी शामिल थी।

12 निमंत्रित परियां बच्ची को आशीर्वाद देने के लिये आगे आई। (pari ki kahani
)
पहली परी ने बच्ची को आशीर्वाद दिया की सृष्टि की सारी सुन्दरता हमेशा तुम्हारे साथ रहे। 
दूसरी परी ने आशीर्वाद दिया तुम हमेशा खुश रहो,उदासी तुम्हारे आस पास भी ना आये।
तीसरी परी ने साहस, चौथी परी ने उदारता , पांचवीं परी ने ईमानदारी, छठी परी ने प्रेम, सातवी परी स्वास्थ का आशीर्वाद देती है। ऐसे ही एक एक कर सभी परीयां बच्ची को आशीर्वाद देती हैं
 जैसे ही 12वी परी बच्ची को आशीर्वाद देने के लिये आगे आती है। चारो ओर काला धुआँ छा जाता है, और एक काली दुष्ट परी प्रकट होती है। राजा ने उस परी को निमंत्रित नही किया था इसी लिये वह बहुत गुस्से मे थी। 【story in hindi 】

काली परी:- मै देख रही हूं। मेरे सिवाए राज्य के सभी लोग यहां हैं। क्यूंकि मै काली हूं और तुम्हारी बच्ची गोरी इसिलिए तुमने मुझे आमंत्रित नही किया।

राजा :- मुझे माफ कर दो मुझसे बहुत बड़ी गलती हो गई।
काली परी :- मैं इस नन्ही बच्ची को नही छोडूंगी। मै इसे एक अनोखा उपहार देना चाहती हूं।

यह कह कर काली परी बच्ची को आशीर्वाद देती है। राजकुमारी सबसे अच्छे से प्यार से पलेगी लेकिन अपने आयु के 15वे वर्ष मे यह चरखे की सुई खुद को चुभा लेगी और मर जायेगी। 
राजा ने सैनिको को आदेश दिया की उस काली परी को पकडो लेकिन वह गायब हो गई। 
तभी 12वी परी ने बच्ची को आशीर्वाद नही दिया था। वह सामने आई और छोटी राजकुमारी को आशीर्वाद देते हुए कहती है।
 मेरी प्यारी बच्ची मै तुम्हे दिये इस आशीर्वाद को तो बदल नही सकती लेकिन इसे कम जरुर कर सकती हूं। यह कह कर 12वी परी आशिर्वाद देती है तुम 15 वर्ष की उम्र मे नही मरोगी बल्कि तुम 100 साल के लिये सो जाओगी।  【sleeping beauty story with picture 】

राजा इस बात से बहुत प्रसन्न होता है। और परी को धन्यवाद देता है। तभी रानी कहती है परी मां मै अपनी बच्ची की शादी देखना चाहती हूं लेकिन हमारा 100 साल तक जीवित रहना असम्भव है। 
परी ने कहा राजकुमारी के सो जाने के बाद जो कोई भी इस महल मे मौजूद होगा वह सभी लोग भी 100 साल के लिये सो जायेंगे। लेकिन हां यह राजकुमारी तभी अपने नींद से जागेगी जब कोई दिलेर और साहसी राजकुमार इसे छुएगा।

इस आशीर्वाद के पाने के बाद सभी लोग खुश और चिंता मुक्त हो गये। लेकिन उस काली परी का श्राप कही ना कही अभी भी था। राजा ने अपने सैनिकों को आदेश दिया की राज्य मे मौजूद सभी चरखो को जला दिया जाये। 

सैनिको ने ऐसा ही किया। राजकुमारी अब बड़ी हो रही थी। वरदान प्राप्त राजकुमारी से सभी लोग बहुत प्रेम करते थे। साल गुजरते गये और राजकुमारी की 15 वर्ष की हो चुकी थी। 
उसके 15वे जन्मदिन पर पुरे राज्य को सजाया गया। राजा ने सभी को दावत दी। महल मे भी खुशिया थी। उस दिन कुछ बुरा नही हुआ सब लोग बहुत ख़ुश थे। 【Hindi kahaniya】
लेकिंन दुसरे दिन खबर आई की रानी की मां बहुत बिमार है। रानी ने अपने सबसे प्रिये दासी को बुलाया और राजकुमारी की पूरी ज़िम्मेवारी सौप दी। राजा रानी दोनो रानी के पिता के राज्य की ओर चल पड़े।

राजकुमारी बगीचे मे पक्षियों को दाना दाल रही थी तभी एक बहुत खुबसूरत तितली उड़ती हूई आती और बगीचे के फूल पर बैठती है। राजकुमारी उस खुबसूरत तितली को पकड़ने के लिये आगे बढती है। 

लेकिन तितली उड़ने लगती है राजकुमारी उसका पीछा करने लगती है। वह उस तितली का पीछा करते करते एक खण्डहर मे जा पहूचती है। 
वहां एक बूढ़ी औरत चरखा से सुत काट रही होती है। राजकुमारी पूछती है सुनिये ददिमां क्या आपने यहा किसी तितली को देखा है? बूढ़ी औरत ने ना मे जवाब दिया।
 तभी राजकुमारी की नज़र चरखे पर पडती है। वह उसे देख पुछ पडती है यह क्या है दादी मां मैने अपने जीवन मे कभी इसे नही देखा है। 
बढ़ी औरत ने जवाब देते हुए कहा यह सुत काटने का चरखा है,इसे सुत काटते हैं। राजकुमारी बोलती है क्या मै भी काट सकती हूं। 

Short Story Of Princess in hindi|Hindi kahaniya

बूढ़ी औरत राजकुमारी को इजाजत दे देती है जब राजकुमारी चरखा चलाती है उसकी उंगलि मे चरखे की सुई चुभ जाती है और वह वही सो जाती है। 
वह बूढ़ी औरत काली परी रहती है और कहती है अब तुम्हारे पिता को मेरा अपमान करने का दंड मिलेगा।  【sleeping beauty story moral story】

इधर दासी को राजकुमारी नही दिखती। वह पुरे महल मे ढूँढती है लेकिन फिर भी राजकुमारी नही मिलती। राजा रानी जब वापस आये तब उन्हे इस बात का पता चला वह बहुत दुखी हुए। 
राजा ने सैनिको को पुरे राज्य मे ढूँढने का आदेश दिया राजा खुद भी अपनी बेटी को ढूँढ रहा था। सभी लोग राजकुमारी को ढूँढ रहे थे। तभी वह उस खण्डहर मे जा पहूंचे। 
राजा ने राजकुमारी को चरखे के पास पड़ा देख समझ गया की काली परी का श्राप सच हो गया है।

राजा रोने लगा तभी रानी ने कहा चलो राजकुमारी को इस राजकुमार के लिये तैयार करते हैं। सभी लोग राजकुमारी को लेकर वापस महल आये। 

राजा ने परियों को बुलाया परियों ने राजकुमारी को सुन्दर वस्त्र पहना दिया उसकी कमरे को फूलो से सजा दिया। राजकुमारी बहुत सुन्दर लग रही थी। 
परियों ने मंत्र जाप किया और बोला हे!, भगवान जब इस बच्ची के नींद के 100 साल पूरी हो जायेंगे तब आप किसी प्रेम के प्रतिक और साहसी राजकुमार को भेजना और इसका जीवन खुशी से भर देना। 【Hindi kahaniya】

सभी लोग अपने अपने जगह पर चले गये। परियों ने एक बार फिर सुरक्षा मंत्र पढ़ा और सभी लोग सो गये, सभी दरवाजे ब्न्द हो गये। घोड़े अपनी जगह, पंक्षी अपने जगह सो गये। 

अचानक से काले बादल छा गये बारिश होने लगी देखते देखते पुरा महल पत्तो से ढ़क गया। कुछ सालो बाद कई राजकुमारो ने अंड़र जाने की कोशिश की लेकिन कोई भी अंड़र नही जा सका। कई ने तो अपनी जान गवा दी। 
राजा योगी की बात सुनकर महल वापस आता है और अपने बेटे को बताता है की उसके जीवन मे जल्द ही एक खुबशुरत राजकुमारी आने वाली है। राजकुमार पूछता है उसका नाम क्या है ?पिता जी। 
राजा:- सभी उसे स्लीपिंग ब्यूटी कहते हैं। 
राजकुमार की खुश नशीबी थी की उस साल राजकुमारी के नींद के 100 पुरे होने वाले थे। राजकुमार उस महल के लिये निकल पड़ा जहां स्लीपिंग ब्यूटी थी।
 वह वहां पहूंच गया उसने महल के आंगन मे प्रवेश किया। तभी उसने देखा कुछ सैनिक सोये हुए है। वह आगे बढ़ा और महल के अंड़ार प्रवेश किया राजा रानी अपने सिहांसन पर सोये हुए थे।
राजकुमार राजकुमारी की तलाश मे आगे बढ़ा आखिर कार उसे राजकुमारी का कमरा मिल जाता है। वह कमरे मे घुसता है। राजकुमारी गहरी नींद मे सोई हूई थी। राजकुमारी उसे देख दंग रह गया। 
स्लीपिंग ब्यूटी की खुबसूरती देख राजकुमार की आँखे खुली की खुली रह गई। राजकुमार ने राजकुमारी का हाथ थाम लिया। जैसे ही राजकुमार हाथ थामता है राजकुमारी नींद से उठ जाती है। महल के सभी लोग जाग जाते हैं। काली परी का दिया श्राप टुट जाता है। 【pariyon ki kahani hindi me】
महल के सभी लोग नये जोड़े का स्वागत करते है। राजकुमारी के पिता ने राजकुमार के पिता तो सन्देश भेजा। उस नये जोड़े की शादी हो गई और सब फिर से खुसल मंगल हो गया। 
यह थी स्लीपिंग ब्यूटी की कहानी आशा करता हूँ की आपको अच्छी लगी होगी। अपनी टिप्पणी जरूर दें।

निष्कर्ष 

अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको स्लीपिंग ब्यूटी short story in hindi|Hindi kahaniya|Hindi kahani|Moral stories in hindi की हिन्दी कहानी पसंद आई होगी ।
और रोमांचिक कहानियां है निचे पढ़े।

Leave a Comment