सुनसान Road पर घूमती जुड़ैल|Scary Horror stories in hindi

 

सुनसान Road पर घूमती जुड़ैल|Scary Horror stories inनमस्कार दोस्तों आपका hindikahaniyauniverse.com में स्वागत है। इस blog पे आपको सुनसान Road पर घूमती जुड़ैल|Scary Horror stories in hindi ..इन्ही तरह के और भी  Hindi kahaniya पढ़ने को मिलेंगे ।

कहानी की शुरुआत 

सन 1938 की बात है पंजाब के एक गाँव मे एक watchman रहता था उस watchman का नाम था हरिलाल।

गाँव से ठीक बाहर एक factory था वहाँ वह night-shift में नौकरी करता था।

एक दिन वह रोज़ के तरह अपनी Night-Shift की नौकरी करने जा रहा था।

गाँव और उस factory के बीच एक सुनसान Road पड़ता था जो रात में बिल्कुल सांथ हो जाता था।

हरिराम अपनी cycle से Road पार कर रहा था। जैसे ही हरिराम आधे रास्ते आया उसे दूर एक औरत टहलती हुई दिखी।

हरिराम ने इस बात 【Hindi kahaniya】पर ज्यादा ध्यान नही दिया और अपने रास्ते पर चलते रहा।

एक समय ऐसा आया जब वह औरत और हरिराम दोनो एक ही सीध में आ गए।

अचानक  औरत हरिराम के तरफ दौडकर आने लगी और हरिराम ने अपनी cycle रोक दी।

उस औरत को क्या दिक्कत थी? Scary Horror stories in hindi

वो औरत हरिराम से कहने लगी कि

मेरे पति मुझे लेने आने वाले थे पर आए नही मैं बहुत अकेली डरी हुई हुँ । 

 

वो यह same बात बार बार पागल ऐसा repeat कर रही थी।

हरिराम ने कहा

आप चिंता न करे आप मेरे साथ मेरे factory चले वहाँ लोग और रोशनी दोनो है यहाँ इस अंधेरे और सुनसान Road पर अकेले घूमना सही नही। अगर आपके पति आएंगे तो वो आपको factory के तरफ खोजने आएंगे ही। 

 

औरत हरिराम के साथ factory के तरफ जाने के लिए तैयार हो गयी।

हरिराम ने औरत को अपनी cycle के पीछे बिठा लिया और factory के तरफ आने लगा।

Related: इन्हे भी पढे 

औरत अपनी आप बीती हरिराम को सुना रही थी वह यह भी बता रही थी कि उसके और उसके पति की मुलाकात कैसे हुई।

हरिराम cycle चलाते हुए सारी बात सुन रहा था और जवाब भी दे रहा था।

हरिराम की cycle अचानक भारी कैसे हो गयी? Bhayanak Horror story 

हरिराम की cycle धीरे धीरे भारी होने लगी और हरिराम को cycle खीचने में भी काफी दिक्कत आ रही थी।

जैसे ही हरिराम ने पीछे मुड़कर देखा तो उस औरत की टांगे road पर रगड़ खा रही थी जिसकी वजह से cycle आगे नही बढ़ नही थी हरिराम ने जैसे ही औरत के चेहरे पर ध्यान दिया तो उसकी आंखें गायब थी।

अब वह सब कुछ समझ चुका था उसने अपनी cycle पटकी और factory के तरफ भागने लगा।

वह औरत गुस्से से चीखने लगी और हरिराम के पीछे भागने लगी।

हरिराम बिना पीछे देखे बस भागता रहा और factory के compound में पहुँच कर बेहोश हो गया।

जब उसे होश आया तो 【Scary horror stories in hindi】उसने देखा कि उसके दूसरे watchman साथी उसे घेरे खड़े है। 

सभी ने हरिराम से पूछा

क्या हुआ था तुम इतने डरे हुए क्यों लग रहे हो? और तुम बेहोश क्यों हो गए थे ?

 

हरिराम ने सबको पूरी कहानी बताई। सब चौके हुए लग रहे थे।

वो औरत भूत कैसे बन गयी?

उनमे से जो सबसे बुजुर्ग था उसे पता था वो औरत कौन थी। उस बुजुर्ग ने कहा

मुझे पता है वह औरत कौन थी  । 

 

दरअस्ल यह बात बहुत पुरानी है इस औरत का पति और बच्चे जालियावाला बाग में घूमने गए थे पर कभी लौट कर वापस न आ पाए क्योंकि General dyer के shooting में वहाँ उपस्थित सभी लोग मारे गए।

पति और बच्चो को खोकर वह औरत पागल ऐसी हो गयी और उसने एक दिन उसी सुनसान Road के इलाके में suicide कर लिया।

तभी से उसकी आत्मा इस इलाके में घूमती है। 

अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको सुनसान Road पर घूमती जुड़ैल|Scary Horror stories in hindi की हिन्दी कहानी पसंद आई होगी 

और रोमांचिक कहानियां है निचे पढ़े।

Leave a Comment

भुज the pride of india के असली हीरो विजय कार्णिक |Biography of vijay karnik in hindi 22 Blogs fail हुए पर अब कमाते है लाखो में |Success story of Indian blogger Olympic मेडल दिलाने वाली Saikhom mirabai chanu biography in hindi वरुण बरनवाल की IAS बनने की कहानी | success story of ias in hindi 2021
भुज the pride of india के असली हीरो विजय कार्णिक |Biography of vijay karnik in hindi 22 Blogs fail हुए पर अब कमाते है लाखो में |Success story of Indian blogger Olympic मेडल दिलाने वाली Saikhom mirabai chanu biography in hindi वरुण बरनवाल की IAS बनने की कहानी | success story of ias in hindi 2021