सुनसान डरावने रास्ते की कहानी|Horror stories in hindi

नमस्कार दोस्तों आपका hindikahaniyauniverse.com में स्वागत है। इस blog पे आपको inspirational Hindi kahani, Horror Hindi kahaniya …इन्ही तरह के और भी  Hindi kahaniya पढ़ने को मिलेंगे ।

सुनसान डरावने रास्ते की कहानी|Horror stories in hindi कहानी की शुरुआत 

यह कहानी एक लड़के की है जो जम्मू का रहने वाला है। लड़के का नाम सैलेश है।

 सैलेश दिल्ली मे रहता था उसका परिवार जम्मू मे रहता था। वह दिल्ली अपने काम के वजह से रहता था। 

सैलेश पिछ्ले महीने अपने परिवार से मिलने जम्मू गया। बस लेट होने के कारन सैलेश देर रात जम्मू पहुचा। पहाड़ के टूटने से गाड़ियों का रस्ता बंद था।

Related : इन्हें भी पढ़े

अभी Click करे और देखे, एसा Reusable Notebook जिसको आप 1000 साल तक Use कर सकते है (Scan करने पर आपका Text Google drive और DropBox पर भी चला जाएगा)

 

सैलेश घर कैसे जाएगा?|Horror stories in hindi

 सैलेश का गांव वहां से 8 किलोमीटर ही दूर था। रस्ता सुनसान और डरावना होने के कारन सैलेश अकेले उतनी रात को उस रास्ते जाने से बहुत घबरा रहा था।

 

तभी वहां एक बुढ़ा चादर ओढ़ कर किनारे अन्धेरे मे बैठा हुआ था। सैलेश उनके पास गया और उनसे पूछा इधर कोई होटल है मुझे रात भर रुकना है। 

 
उसने सारी बाते बताई मेरा घर 8 किलोमीटर की दुरी पर ही है। लेकीन रास्ता बहुत डरावना है इसलिए मै रात को अकेले नही जा पाऊंगा।
 
Related : इन्हें भी पढ़े
 
 बाते करते करते जब सैलेश ने अपने फ़ोन का टॉर्च जलाया,उसे बूढ़े व्यक्ति की सकल दिखाई दी सैलेश तुरंत उन्हे पहचान गया। वह उसके गांव का ही था।
 

बूढ़ा आदमी बोला चलो मै भी घर ही जा रहा हूं। साथ चलो तुम भी। सैलेश के मन से सारा डर निकल गया,(क्युंकि उसी गांव के एक व्यक्ति उसे मिल गये) और उनके साथ निकल पड़ा। 【Horror stories in hindi】

जब वह गांव पहुचे बूढ़े व्यक्ति ने बोला तुम जाओ मुझे खेत मे कुछ काम है। सैलेश घर चला गया। उसकी मां ने दरवाजा खोला, सैलेश घर जा कर सीधा सो गया।
 
अगली सुबह जब वह उठा उसके पापा ने कहा इतनी रात को अकेले इतने सुनसान रास्ते से आने की क्या जरुरत थी।
 

बाबा असल मे थे कौन?|Bhayanak Horror Story

 जम्मू की किसी होटल मे रुक जाते। तब सैलेश ने बताया की हमारे गांव के जो बाबा है जिनका नाम सुरेश है। वह मिल गये मुझे वो भी घर आ रहे थे साथ मे मै भी आ गया।
 
यह सुनते ही सैलेश के पापा चौंक कर कुर्सी से खड़े हो गये। सैलेश पूछा क्या हुआ पापा?
 
उसके पापा ने बताया सुरेश …..बाबा मर चुके हैं। उनकी मौत जम्मू से घर लौटते वक़्त ( land slide ) पहाड़ो के टुकड़े रोड पर गिरने के कारन हूई थी। और इस घटना को 3 महीने हो चुके हैं। 
 

सैलेश यह सुन कर चौक जाता है और कहता है कल रात मेरे साथ कुछ भी हो सकता था। यह कहते हुए अपने पापा के गले लग जाता है।

निष्कर्ष 

अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको सुनसान डरावने रास्ते की कहानी|Horror stories in hindi की हिन्दी कहानी पसंद आई होगी ।
 
और रोमांचिक कहानियां है निचे पढ़े।

Leave a Comment