शाही हाथी|Hindi kahaniya|Hindi kahani|Moral stories in Hindi


शाही हाथी 

शाही हाथी का संक्षिप्त विवरण|Hindi kahaniya|Hindi kahani|Moral stories in Hindi

शाही हाथी|Hindi kahaniya|Hindi kahani|Moral stories in Hindi: इस कहानी में गोपाल और रघु दो दोस्त   [hindi kahaniya]   एक घायल  हाथी की मदद करते है फिर हाथी क्या करता है आगे देखिये।  [hindi kahanjiya]

बहुत समय पहले शान्तपुर नाम का एक गाँव था ।  जहाँ एक इलाका था वहा बढ़ई रहते थे। शान्तपुर  एक नदी तट पर स्थित था नदी के दूसरी ओर एक जंगल था।  

 हर दिन बढ़ई  नदी को पार कर लकड़ी लाने के लिए जंगल मे जाते थे | जंगल तक पहुँचने के लिए नाव का इस्तेमाल किया करते थे। वे इस इलाके में उनके काम के लिए रहते थे।


 एक दिन गोपाल और रघु दो दोस्त बात चित कर रहे थे। 

गोपाल :- तुम बहुत लकड़ी लाते हो हर दिन यह अभी भी आपके लिए पर्याप्त नहीं है। तभी, 

रघु:- मुझे एक हाथी दिखाई दे रहा  है ।वह  हमारी ओर आ रहा है ऐसा लगता है कि वह आघात है

गोपाल:- देखो  एक काटी उसके  पैर में  चूभा हुआ है । लगा रहा है की  वह  दर्द में  है।

हाथी गोपाल के करीब आ गया और रघु हाथी को देखने उसके पास गया। हाथी घायल था उसके पैर मे किल चुभी हूई थी। देखो यह उसकी पैर के गहराई में चला गया है।

दोनों ने मिलकर बड़ी कील निकाली घाव को साफ किया और चारों ओर एक पट्टी बांध दी।  हाथी, उनको  बहुत धन्यवाद देता है अब मुझे दर्द से राहत मिली है। हाथी धन्यवाद दे कर  चला गया और जंगल में कुछ  दिनों के लिए  गायब हो गया।  [Hindi kahaniya]

रघु और गोपाल पूरी तरह उसे  भूल गए। हाथी जल्द ही अपने में समा गया, दिन-प्रतिदिन के काम में वयस्थ  फिर से एक दिन गोपाल ने देखा की एक हाथी फिर से उसकी ओर चला आ रहा है। 

 रघु :-  वही होना चाहिए। यह हमारी ओर आ रहा है मुझे आश्चर्य है कि क्या उसे फिर से तो चोट नहीं लगी ? मैं उसे  यहाँ लाता हूँ।  

हाथी :-मैं यहाँ धन्यवाद देने के लिए आया  हूँ । आपने उस दिन मेरी मदद की और देखभाल की मेरी चोट के प्रती आप दोनों बहुत दयालु थे मेरे लिए । मैं अब हर दिन  आपकी  मदद करने के लिए आऊँगा। हाथी  उस दिन से हर सुबह  मदद के लिए आता था। 

 रघु और गोपाल  के साथ  काम करता और शाम को  जंगल में वापस चला जाता  हाथी ने कई वर्षों तक उनकी सेवा की ।

एक दिन  रग्घू:- यह सामान्य समय है लेकिन हमारा दोस्त हाथी अभी तक आया  नहीं है मुझे डर है कि उसे  कुछ होना  नहीं चाहिए। 

गोपाल:-  चिंता की कोई वजह नहीं है उसे कुछ नहीं हुआ होगा।  [Hindi kahani]

कुछ दिनों बाद गोपाल ने देखा कि उनका हाथी  दोस्त एक  छोटे हाथी के साथ आ रहा है। जो एक सुंदर सफेद हाथी का बच्चा है। 

हाथी ने रघु और गोपाल से कहा मैं अब बूढ़ा हो रहा  हूं ।मेरी उमर हो रही है अब मेरी जगह मेरा बेटा आपकी मदद किया करेगा। इसका नाम गजा है। गजा  एक सफेद हाथी का बच्चा था।

जल्द ही गजा अपने काम मे लग गया और रघु गोपाल की मदद करता था। रघु और गोपाल के बच्चे भी गजा से बहुत प्यार करते थे। गजा उनलोग के साथ खेलता था। एक दिन नदी मे गजा और बच्चों नहा रहे थे।

 तभी  सैनिकों के साथ राज्य का शाही हाथी  नदी मे नहाने के लिये आया। शाही  हाथी नदी मे नही जा रहा था। यह देख कर सैनिक ने राजा को बताया। राजा ने आदेश दिया की हाथी पानी मे क्यू नही जा रहा है।  इसका पता लगाया जाये।

एक छोटी सी चीटी ने कबूतर की जान कैसे बचाई। आइये देखे।

राजा खुद इसकी जांच करने नदी के पास आया । राजा को पता चला की नदी मे दुसरे हाथी का मल मूत्र था इसिलिए रॉयल हाथी पानी मे नही जा रहा था।

राजा ने वहा एक सफेद हाथी देखा जो की गजा था। उसे देख कर राजा गोपाल और रघु के पास गया और हाथी से मिला। राजा ने गोपाल और रघु को कहा मै गजा को रॉयल हाथी बनाना चाहता हूं। मै इसके लिये आप दोनो को 4 लाख सोने के सिक्के दूँगा। तभी गजा ने राजा से कहा मै आपकी सेवा करने को तैयार हूँ । लेकिन इन दोनो ने मुझे पाल पोश कर बडा किया है। मै लालची नही हो रहा परंतु ये रकम इनके बच्चों को पालने के लिये बहुत कम है। राजा ने कहा जो भी रकम तुम बोलोगो मै दे दूँगा।

शाही हाथी|Hindi kahaniya|Hindi kahani|Moral stories in Hindi


 हाथी मान गया राजा के साथ विदाई का दृश्य देख कर सभी उदास थे।  सभी के आंखो मे आंसू था। रघु और गोपाल की आंखों के अलावा उनके बच्चे भी रो रहे थे।  राजा ने  हाथी को सजाया।

 राजा को यह बहुत पसंद था। हाथी राजा के बहुत करीब था । हाथी भी राजा को बहुत मानता था। हाथी ने राजा को कहा की मै आपके साथ जीवन भर रहूँगा। 

राजा ने  अपनी पत्नी और मंत्री से कहा यह हाथी  हमारे लिए बहुत भाग्यशाली है।  मुझे लगता है कि हमारा बच्चा एक बहुत अच्छा राजा बनेगा और नाम कमाएगा। कुछ महीने बीत गए और अचानक राजा बीमार पड़ गया उसका अंत करीब था।

राजा:-अगर मेरे साथ कुछ होता है। इस हाथी की देखभाल कौन करेगा ?

 कुछ दिनों बाद राजा की मृत्यु हो गई। रानी और मंत्री ने इस दुखद समाचार का खुलासा हाथी के सामने नहीं करने का फैसला लिया। राजा की मृत्यु की खबर पुरे राज्य मे फैल गया। 

 पड़ोस के राजा कौसल को यह खबर मिला की राजा की मृत्यु हो चुकी है। तो उसने सोचा अभी शान्तपुर मे कोई राजा नही है। यह सही मौका है हमले का। कौसल राजा ने युध्द के लिये फरमान भेजवा दिया।

शान्तपुर के रानी मा बनने वाली थी । मंत्री ने कौसल के राजा को एक संदेश भेजा। और अनुरोध किया की हमे एक सप्ताह का समय दे। राजा ने अनुरोध को स्वीकार किया।  [Moral stories in Hindi]

 दो दिन बाद रानी ने एक पुत्र को जन्म दिया। मंत्री कौशल राज्य से युद्ध करने लगे। शान्तपुर के बहुत सैनिक मारे गये। मंत्री ने रानी को बताया की हम हारने वाले हैं। 

रानी ने कहा समय आ गया है की हम हाथी को सब बता दे और उसकी मदद ले।

मंत्री ने हाथी को सब बता दिया । हाथी दुखी हो गया  और उसने छोटे राजा की सेवा करने का फैसला लिया और जीवन भर उसकी रक्षा करेगा ऐसा निश्चय किया।

हाथी गजा ने युध्द मे जाने की तैयारी की और सभी दशमन को भगा दिया। छोटा राजा अब बड़ा हो रहा था। 

छोटा राजा बहुत होशियार और ज्ञानी था। उसने राज्य सम्भाला और एक अच्चा राजा बना।

shahi haathi

bahut samay pahale shaantapur naam ka ek gaanv tha .

jahaan ek ilaaka tha vaha badhee rahate the. shaantapur ek nadee tat par sthit tha nadee ke doosaree or ek jangal tha.

 har din badhee nadee ko paar kar lakadee laane ke lie jangal me jaate the.
jangal tak pahunchane ke lie naav ka istemaal kiya karate the. ve is ilaake mein unake kaam ke lie rahate the.

ek din gopaal aur raghu do dost baat chit kar rahe the.

gopaal :- tum bahut lakadee laate ho har din yah abhee bhee aapake lie paryaapt nahin hai. tabhee, raghu:- mujhe ek haathee dikhaee de raha hai .  [Hindi kahaniya]

vah hamaaree or aa raha hai aisa lagata hai ki vah aaghaat hai gopaal:- dekho ek kaatee usake pair mein choobha hua hai . laga raha hai kee vah dard mein hai.

 haathee gopaal ke kareeb aa gaya aur raghu haathee ko dekhane usake paas gaya. haathee ghaayal tha usake pair me kil chubhee hooee thee.

dekho yah usakee pair ke gaharaee mein chala gaya hai. donon ne milakar badee keel nikaalee ghaav ko saaph kiya aur chaaron or ek pattee baandh dee.

 haathee, unako bahut dhanyavaad deta hai ab mujhe dard se raahat milee hai. haathee dhanyavaad de kar chala gaya aur jangal mein kuchh dinon ke lie gaayab ho gaya.

raghu aur gopaal pooree tarah use bhool gae. haathee jald hee apane mein sama gaya, din-pratidin ke kaam mein vayasth phir se ek din gopaal ne dekha kee ek haathee phir se usakee or chala aa raha hai.

raghu :-  vahee hona chaahie. yah hamaaree or aa raha hai mujhe aashchary hai ki kya use phir se to chot nahin lagee ? main use  yahaan laata hoon.  [hindi kahani]

haathee :-main yahaan dhanyavaad dene ke lie aaya  hoon . aapane us din meree madad kee aur dekhabhaal kee meree chot ke pratee aap donon bahut dayaalu the mere lie . main ab har din  aapakee  madad karane ke lie aaoonga. haathee  us din se har subah  madad ke lie aata tha.  raghu aur gopaal kaam ke saath  kaam karata aur shaam ko  jangal mein vaapas chala jaata  haathee ne kaee varshon tak unakee seva kee .

ek din ragghoo, yah saamaany samay hai lekin hamaara dost haathee abhee tak aaya  nahin hai mujhe dar hai ki use  kuchh hona  nahin chaahie.

gopaal:-  chinta kee koee vajah nahin hai ki vah abhee tak kyon nahin aaya.

kuchh dinon baad gopaal ne dekha ki unaka haathee  dost ek  chhote haathee ke saath aa raha hai. jo ek sundar saphed haathee ka bachcha hai.

शाही हाथी|Hindi kahaniya|Hindi kahani|Moral stories in Hindi

haathee ne raghu aur gopaal se kaha main ab boodha ho raha  hoon .

meree umar ho rahee hai ab meree jagah mera beta aapakee madad kiya karega. isaka naam gaja hai.

 gaja  ek saphed haathee ka bachcha tha.

jald hee gaja apane kaam me lag gaya aur raghu gopaal kee madad karata tha.

 raghu aur gopaal ke bachche bhee gaja se bahut pyaar karate the.

 gaja unalog ke saath khelata tha. ek din nadee me gaja aur bachchon naha rahe the. tabhee royal haathee sainikon ko saath nadee me nahaane ke liye aaya.

royal haathee nadee me nahee ja raha tha. yah dekh kar sainik ne raaja ko bataaya.

raaja ne aadesh diya kee haathee paanee me kyoo nahee ja raha hai isaka pata lagaaya jaaye.

कैसे महादेव शिव ने चन्द्रमा को जीवन दान दिया ।

raaja khud isakee jaanch karane nadee ke paas aaya .

 raaja ko pata chala kee nadee me dusare haathee ka mal mootr tha isilie royal haathee paanee me nahee ja raha tha.

raaja ne vaha ek saphed haathee dekha jo kee gaja tha.

 use dekh kar raaja gopaal aur raghu ke paas gaya aur haathee se mila.

 raaja ne gopaal aur raghu ko kaha mai gaja ko royal haathee banaana chaahata hoon. mai isake liye aap dono ko 4 laakh sone ke sikke doonga.

 tabhee gaja ne raaja se kaha mai aapakee seva karane ko taiyaar hoon .

 lekin in dono ne mujhe paal posh kar bada kiya hai.

mai laalachee nahee ho raha parantu ye rakam inake bachchon ko paalane ke liye bahut kam hai.

raaja ne kaha jo bhee rakam tum bologo mai de doonga.  [Moral stories in Hindi]

haathee maan gaya raaja ke saath vidaee ka drshy dekh kar sabhee udaas se sabhee ke aankho me aansoo tha.

 raghu aur gopaal kee aankhon ke alaava unake bachche bhee ro rahe the.  raaja ne  haathee ko sajaaya. raaja ko yah bahut pasand tha

. haathee raaja ke bahut kareeb tha . haathee bhee raaja ko bahut maanata tha. haathee ne raaja ko kaha kee mai aapake saath jeevan bhar rahoonga.

raaja apanee patnee aur mantree se kaha yah haathee  hamaare lie bahut bhaagyashaalee hai.

 mujhe lagata hai ki hamaara bachcha ek bahut achchha raaja banega aur naam kamaega.

 kuchh maheene beet gae aur achaanak raaja beemaar pad gaya usaka ant kareeb tha.

raaja:-agar mere saath kuchh hota hai. is haathee kee dekhabhaal kaun karega ? kuchh dinon baad raaja kee mrtyu ho gaee haathee .

 raanee aur mantree ne is dukhad samaachaar ka khulaasa haathee ke saamane nahin karane ka phaisala liya.

raaja kee mrtyu kee khabar pure raajy me phail gaya.

 pados ke raaja kausal ko yah khabar mila kee raaja kee mrtyu ho chukee hai.

to usane socha abhee shaantapur me koee raaja nahee hai.

yah sahee mauka hai hamale ka. kausal raaja ne yudhd ke liye pharamaan bhejava diya.

shaantapur ke raanee ma banane vaalee thee .

mantree ne kausal ke raaja ko ek sandesh bheja. aur anurodh kiya kee hame ek saptaah ka samay de.

raaja ne anurodh ko sveekaar kiya.  do din baad raanee ne ek putr ko janm diya.

mantree kaushal raajy se yuddh karane lage. shaantapur ke bahut sainik maare gaye. mantree ne raanee ko bataaya kee ham haarane vaale hain. [hindi kahaniya]

raanee ne kaha samay aa gaya hai kee ham haathee ko sab bata de aur usakee madad le.

mantree ne haathee ko sab bata diya . haathee dukhee ho gaya  aur usane chhote raaja kee seva karane ka phaisala liya aur jeevan bhar usakee raksha karega aisa nishchay kiya.

haathee gaja ne yudhd me jaane kee taiyaaree kee aur sabhee dashaman ko bhaga diya. chhota raaja ab bada ho raha tha.

chhota raaja bahut hoshiyaar aur gyaanee tha. usane raajy sambhaala aur ek achcha raaja bana.

Nishkarsh

Agar aap yah padh rahe h to yaha tak aane k liye dhanyawad mujhe asha h ki aapko शाही हाथी|Hindi kahaniya|Hindi kahani|Moral stories in Hindi Pasand aayi hogi …
Aur Romanchak kahaniya h niche padhe…

Leave a Comment