बेटा झूठ बोलोगे तो दुख झेलोगे! |झूठ बोलने का फल कहानी लेखन in Hindi

 बेटा झूठ बोलोगे तो दुख झेलोगे! |झूठ बोलने का फल कहानी लेखन in Hindi

नमस्कार दोस्तों आपका hindikahaniyauniverse.com में स्वागत है। इस blog पे आपको  बेटा झूठ बोलोगे तो दुख झेलोगे! |झूठ बोलने का फल कहानी लेखन in Hindi,Horror Hindi kahaniya …इन्ही तरह के और भी kahaniya पढ़ने को मिलेंगे ।

कहानी की शुरुआत 

एक लड़का था जिसका नाम राजू था। उसको स्कूल जाना बिलकुल भी अच्छा नहीं लगता था। कभी कभी वो झूठ बोल कर छुट्टी कर लेता था।

एक बार उसने सोचा कि मैं आज स्कूल नहीं जाऊँगा। जब स्कूल का टाइम हुआ तो उसकी माँ ने पूछा “राजू तुम स्कूल के लिए अभी तक तैयार क्यों नहीं हुए हो। चलो जल्दी से तैयार हो जाओ।”

 
राजू बोला “माँ आज मैं स्कूल नहीं जाऊँगा।” माँ ने पूछा “क्यों नहीं जाओगे राजू स्कूल।” 【Hindi kahaniya】
राजू बोला “आज मेरे पेट में बहुत जोर से दर्द हो रहा है इसलिए माँ आज में स्कूल नहीं जाऊँगा।”
कुत्ते की जान खतरे में ! आइये देखे आगे क्या हुआ|

राजू की माँ समझ गई कि राजू झूठ बोल रहा है। माँ ने कहा “राजू झूठ बोलना बहुत बुरी बात है।” राजू बोला “माँ में झूठ नहीं बोल रहा हूँ सचमुच मेरे पेट में दर्द हो रहा है।” माँ चुप हो गयी। और राजू ने स्कूल की छुट्टी कर ली।

झूठ बोल के खुद का ही नुकसान करवा लिया | झूठ बोलने का फल कहानी लेखन in Hindi

शाम को राजू के पापा ऑफिस से घर आये। वो बहुत अच्छी अच्छी मिठाइयाँ और बहुत सारी चॉकलेट ले कर आये थे। पापा ने आते ही पूछा “राजू आज स्कूल में दिन कैसा रहा?” राजू ने धीरे से कहा “पापा आज मैं स्कूल नहीं गया। मेरे पेट में दर्द हो रहा था।”
पापा ने कहा “अच्छा! मैं तो तुम्हारे लिए मिठाई और चॉकलेट लाया था। पर तुम्हारे तो पेट में दर्द हो रहा है  यह तुम्हे और भी नुकसान करेगी। इसलिए तुम मिठाई और चॉकलेट बिलकुल भी नहीं खाना। अब जाओ  दवाई खाकर सो जाओ।”

राजू के सामने ही पापा ने सबको मिठाई और चॉकलेट बाँट दी। सब मिठाई खाने लगे। सबको मिठाई खाते हुए देख कर राजू का भी मन कर रहा था कि मैं भी सब खा लूं। 
पर वो किसी को बता नहीं सकता था कि उसने झूठ बोला है उसके पेट में दर्द है। उसने सोचा कि अगर मैंने झूठ न बोला होता तो आज मुझे भी मिठाई मिलती। उस दिन से उसने झूठ बोलना छोड़ दिया। और वो रोज स्कूल जाने लगा।

सीख : कभी भी हमें किसी से झूठ नहीं बोलना चाहिए उससे हम अपना ही नुकसान कर लेते है।

सवाल और जवाब 

1. इंसान झूठ क्यों बोलता है?

उत्तर- बहुत बार इंसान ऐसे जगह फस जाता है जहाँ अगर वो सच बोलेगा तो उसकी life में और problems आ जाएगी isliye वह tension से बचने के लिए झूठ बोल देता है पर जो इंसान बात बात पे बिना किसी खास कारण के झूठ बोलता है वह सबसे खतरनाक है।

2. बार बार लगातार झूठ बोलने का क्या परिणाम होता है?

उत्तर- हमे कभी भी बार बार लगातार छोटी छोटी बातों पर झूठ नही बोलना चाहिए क्यों कि फिर आपके आस पास के लोग आप पर भरोसा करना चोर देंगे। इसलिए अगर कोई मजबूरी हो तभी झूठ बोले नही तो सच बता दे।

3. झूठ बोलना कब जायज़ है?

उत्तर- जिस झूठ से किसी का परिवार का भला हो या समाज का भला हो वह झूठ जायज़ है।

4. सच और झूठ में क्या अंतर होता है?

उत्तर- सच पहले से ही होता है उसे बनना नही पड़ता पर झूठ को बनना बहुत मुश्किल है क्यों कि आप सच की ही नकल बना रहे हो ।

5. झूठ कब सच लगने लगता है?

उत्तर- सच हमेसा सच ही होता है और झूठ हमेसा झूठ ……. जब जानकारी गलत मिले या फिर इंसान में ही समझ कम हो तब उस इंसान को झूठ भी सच लगने लगता है।

6. झूठ बोलने वाले को कैसे पहचाने?

उत्तर- आप किसी का भी झूठ lie डिटेक्टर टेस्ट या फिर narco टेस्ट से पता कर सकते है जिसे police भी इस्तमाल करती है।

अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको बेटा झूठ बोलोगे तो दुख झेलोगे! |झूठ बोलने का फल कहानी लेखन in Hindi की कहानी पसंद आई होगी।
और रोमांचिक कहानियां है निचे पढ़े।

Leave a Comment