बुद्धिमान कुत्ते ने अपनी चतुराई से बड़े कुत्ते को सबक सिखाया| कुत्ते की कहानी बय मुंशी प्रेमचंद

बुद्धिमान कुत्ते ने अपनी चतुराई से बड़े कुत्ते को सबक सिखाया| कुत्ते की कहानी बय मुंशी प्रेमचंद

नमस्कार दोस्तों आपका hindikahaniyauniverse.com में स्वागत है। इस blog पे आपको inspirational Hindi kahani, बुद्धिमान कुत्ते ने अपनी चतुराई से बड़े कुत्ते को सबक सिखाया| कुत्ते की कहानी बय मुंशी प्रेमचंद   इन्ही तरह के और भी kahaniya पढ़ने को मिलेंगे ।

कहानी की शूरुआत

एक दिन, एक भूखा भेड़िया शिकार की खोज मे एक गाँव के पास भटक रहा  था। 

उसने वहां एक कुत्ते को देखा जो  लेटा हुआ था।यह कुत्ता बहुत दुबला था ।
भेड़िया बहुत भूखा था और कुत्ते को देख कर उसकी भूख बढ़ गई। भेड़िया अपनी नाक उपर कर के कुत्ते की ओर बढ़ने लगा।

बुद्धिमान कुत्ता|Hindi kahaniya|Hindi kahani|Moral stories in Hindi

भेड़िया जब अपना मुह खोल के कुत्ते को काटने ही वाला था। तभी कुता पीछे हट गया।

कुत्ते ने भेडीया से कहा मुझे अभी खाना बुरा होगा। देखीये मुझे मै कितना दुबला हूं ।मेरी हड्डियां दिखाई दे रही हैं।मेरे शरीर मे अभी हड्डियां और चमडी के अलवा कुछ नहीं  है।

दुबले कुत्ते ने खेला भेड़िए के साथ खेल|मुंशी प्रेमचंद की सर्वश्रेष्ठ कहानियां

लेकिन, आपको बता दूं कुछ दिनों में मेरे गुरु शादी की दावत देंगे अपनी इकलौती बेटी के लिए।आप अनुमान लगा सकते हैं कि मैं  कितना अच्छा और मोटा हो जायुँगा । “फिर मुझे खाने का समय है। ”

भेड़िया सोचने में देर  नहीं कर सकता था।

बुद्धिमान कुत्ता|Hindi kahaniya|Hindi kahani|Moral stories in Hindi

भेड़िया:-  कितना अच्छा होगा। एक अच्छा मोटा कुत्ता,
मैला खाने के बजाय कुछ दिन इन्तजार करता हूँ ।

भेड़िया वहा से चला गया । और लौटने का वादा किया।

कुछ दिन बाद, भेड़िया वादे  के अनुशार  वापस आ गया।उसने कुत्ते  को अपने आंगन में पाया।और उसे बाहर आने के लिए कहा।

एक मरे हुए चूहे से भी पैसे कमाए जा सकते है ! आइये देखे कैसे|

कुत्ते ने मुस्कराहट के साथ कहा, सर मुझे खुशी होगी।अगर आपने मुझे खा लिया है।

 मैं  बाहर हो जाऊंगा जब कुली दरवाजा खोलेगा ।

बुद्धिमान कुत्ता|Hindi kahaniya|Hindi kahani|Moral stories in Hindi

“कुली” एक बहुत बड़ा कुत्ता था।जिसे भेड़िया जानता था भेड़िया का उसके साथ दर्दनाक अनुभव था। कुली भेड़ियों के प्रति बहुत  निर्दयी था। ।इसलिए भेड़िय ने  इंतजार नहीं करने का फैसला किया और तेजी से वह वहां  से भाग गया।

कहानी  सीख:- इस कहानी से हमे ये सीख मिलता है की हमे उनलोगो के वादो  को नहीं मनना और निभाना चाहिये। जिसका उदेश्य आपको नुकशान पहुँचना।

अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको बुद्धिमान कुत्ते ने अपनी चतुराई से बड़े कुत्ते को सबक सिखाया की हिन्दी कहानी पसंद आई होगी ।
और रोमांचिक कहानियां है निचे पढ़े।

1 thought on “बुद्धिमान कुत्ते ने अपनी चतुराई से बड़े कुत्ते को सबक सिखाया| कुत्ते की कहानी बय मुंशी प्रेमचंद”

Leave a Comment