कमरा नम्बर 117| Horror stories in hindi

 कमरा नम्बर 117| Horror stories in hindi

नमस्कार दोस्तों आपका hindikahaniyauniverse.com में स्वागत है। इस blog पे आपको inspirational Hindi kahani, Horror Hindi kahaniya …इन्ही तरह के और भी  Hindi kahaniya पढ़ने को मिलेंगे ।

कहानी की सुरुवात 

यह कहानी बिल्कुल सच्ची है। ऐसा अनुभव वास्तविक मे हुआ है। यह एक व्यकित की है जो एक सिक्योरिटी गार्ड का काम करता था। 

कुछ दिन पहले ही उसकी नौकरी चली गई थी। वह दुसरे काम की तलाश मे था।

उसके एक दोस्त ने उसको एक होस्पिटल मे काम दिलवा दिया। हॉस्पिटल मे गार्ड की जरुरत थी तो उन्होने उसे वहां रख लिया।

 सूरज ने अगले दिन से ही काम शुरु कर दिया। पहला दिन सब कुछ अच्चे से हो गया। 

Hospital में अजीब वाकया|Horror stories in hindi 

हॉस्पिटल मे रात को 4 गार्ड रहते है। 2,3 दिन ही सूरज के काम को हुए थे। एक रात जब सूरज हॉस्पीटल के कॉरिडोर मे पहरेदारी कर रहा था।
 तभी उसे एक व्यक्ति ने आवाज दी सूरज पीछे मुड कर देखा तो एक औरत थी जो की मरीज के कपडो मे थी,पुरे बाल खुला डरावनी लग रही थी। और धीरे धीरे अपने दंडे के सहारे आगे बढ रही थी।

सूरज एक पल के लिये डर गया था। लेकिन फिर उसने महिला की मदद करने के लिये आगे गया। 

वह महिला के पास पहूच कर पूछने लगा। आप इतनी रात को अकेले कहां जा रही हैं? आपके परिवार वाले कहां हैं? 【Hindi kahaniya】

महिला कहती है, मेरी मदद करो मेरे साथ अभी कोई नही है मुझे कमरा नम्बर 117 तक छोड़ दो। सूरज महिला के साथ बाते करते करते उनको कमरे तक छोड़ देता है। 

 
जब सूरज उस औरत को उसके कमरे मे छोड़ने के बाद अपने ऑफ़िस मे आता है। तब वहां मौजूद एक दुसरे गार्ड ने उसे पूछा तुम कॉरिडोर मे किसे बाते कर रहे थे?
तब सूरज ने सारी बाते बताई। दुसरे गार्ड चौक जाते हैं और कहते हैं। वहां कोई नही था और तुम जिस कमरे की बात कर रहे हो वो 6 महीने से बंद है। उसमे कोई मरीज नही है। 【Horror stories in hindi】

सूरज यह सारी बाते सुन कहता है अभी मै नया हूं इसलिए तुम मजाक कर रहे हो। तब दुसरे गार्ड ने बोला तुम्हे यह मजाक लग रहा है। 

वह औरत कौन थी?|Bhayanak Horror Story

उसने कंप्यूटर पे वहां लगे कैमरे का वीडियो दिखाया। जिसे देखते ही सूरज काफी डर गया। वीडियो मे सिर्फ सूरज अपने आप से बाते करते नज़र आ रहा था।

तभी दुसरे गार्ड ने बताया की तुम जिस औरत की बाते कर रहे हो। वो 6 महीने पहले कमरा नम्बर 117 मे भर्ती थी। उसके परिवार ने उसको निकाल दिया था। 

जिसके कारन उन्होने पूल से कद कर खुदखुसी करने की कोशिश की थी। वहां मौजूद कुछ लोगो ने उन्हे यहां भर्ती करवाया था। 【Moral stories in hindi】
2 दिन बाद उनको होश आया था, वो अच्छे से बाते कर रही थी। लेकिन उसी रात उनकी मौत हो गई थी।

उसके बाद उस कमरे मे बहुत अजीब अजीब घटनाए होने लगी। जिसके कारन हॉस्पीटल ने उस कमरे को बंद कर दिया।

यह सारी बाते सुनने के बाद सूरज बहुत डर गया और उसने वहां नौकरी छोड़ दी। 

निष्कर्ष 

अगर आप यह पढ़ रहे हैं तो यहां तक आने के लिये धन्यवाद मुझे आशा है की आपको कमरा नम्बर 117| Horror stories in hindi की हिन्दी कहानी पसंद आई होगी ।
और रोमांचिक कहानियां है निचे पढ़े।

Leave a Comment